गुवाहाटी: बीजेपी सांसद आरपी शर्मा की बेटी पल्लवी शर्मा सहित असम सरकार के 19 अधिकारियों को बुधवार को कैश फॅार जॅाब’ घोटाले में गिरफ्तार किया गया है। सभी गिरफ्तार लोगों को कामरूप मेट्रो के जिला विशेष अदालत में पेश किया जाएगा।

डिब्रूगढ़ के पुलिस अधीक्षक गौतम बोरा ने कहा कि 19 अधिकारियों के हस्तलेखन का उनके उत्तर पत्र से मिलान नहीं हुआ जिन्हें पहले फोरेंसिक जांच में फर्जी पाया गया। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को गुवाहाटी में गिरफ्तार किया गया।राकेश पाल जब एपीएससी के अध्यक्ष थे उस समय आयोजित परीक्षा में 19 अधिकारियों का चयन हुआ था।

पाल और आयोग के तीन अन्य अधिकारियों को नौकरी के बदले नकदी मामले में कथित तौर पर संलिप्तता के लिए 2016 में गिरफ्तार किया गया था। पाल ने बताया कि गिरफ्तार अधिकारियों में 13 एसीएस , तीन एपीएस और तीन सहायक सेवाओं के अधिकारी शामिल हैं।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक और जांच अधिकारी सुरजीत सिंह पनेश्वर ने बताया कि तेजपुर से बीजेपी सांसद आरपी शर्मा की बेटी पल्लवी शर्मा एपीएस अधिकारी हैं जिन्हें गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने इससे पहले पाल, एपीएससी सदस्य समेदुर रहमान और बसंत कुमार डोले तथा सहायक परीक्षा नियंत्रक पबित्र कैबराता सहित 35 लोगों को गिरफ्तार किया था।

इससे पहले असम सरकार ने इस वर्ष 21 जून को राज्य सिविल सेवा के 13 अधिकारियों को नौकरी के बदले नकदी मामले में कथित संलिप्तता के लिए नौकरी से बर्खास्त कर दिया था। बर्खास्त अधिकारी पिछले वर्ष नवम्बर में जब प्रोबेशन पर थे उसी वक्त उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था

भाजपा सांसद की बेटी का नाम आने के बाद से कई संगठनों ने मांग की है कि सांसद रामप्रसाद शर्मा को नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए इस्तीफा देना चाहिए।