pako

pako

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा एक इंटरव्यू में पकौड़े बेच ने को रोजगार में शामिल किये जाने की बात को लेकर छात्र भड़क उठे है. देश भर में छात्र सांकेतिक रूप से पकौड़े बेच कर प्रधानमंत्री के बयान का विरोध कर रहे है.

कर्नाटक के बंगलौर की तरह उतराखंड के ऋषिकेश में भी छात्रों ने पकोड़ा प्रदर्शन किया. जिसके तहत 190 रुपए के पकौड़े बेचे गए और इस राशि को प्रधानमंत्री राहतकोष में जमा किया गया.

ये विरोध-प्रदर्शन कांग्रेसियों ने रविवार को दून तिराहे पर ‘प्रधानमंत्री पकौड़ा रोजगार योजना कार्यक्रम’ के रूप में आयोजित किया. जिसमें कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने युवाओं को पकोड़े बनाने का प्रशिक्षण दिया.

महिला कांग्रेस की नगर अध्यक्ष मधु जोशी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव से पूर्व युवाओं को रोजगार देने का वादा किया था. लेकिन रोजगार तो नहीं मिला पर आज युवाओं की हालत और खराब है. कहीं रोजगार के साधन नहीं है और प्रशिक्षित बेरोजगार खाली बैठे हैं.

उन्होंने कहा कि इन सबके बावजूद प्रधानमंत्री युवाओं को पकौड़े बेचने की सलाह दे रहे हैं. उनका कहना है कि केंद्र सरकार अपने वादे से पीछे हट रही है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?