पश्चिम बंगाल के सिलिगुड़ी से बीजेपी महिला मोर्चा की नेता जूही चौधरी को सीआईडी ने बच्चों की तस्करी करने के मामलें में  गिरफ्तार किया है. जूही को मंगलवार रात दार्जिलिंग जिले के भारत-नेपाल बॉर्डर से गिरफ्तार किया गया.

जूही चौधरी की गिरफ्तारी मुख्य आरोपी चंदना चक्रवर्ती के पकड़े जाने और पूछताछ के कुछ घंटों बाद हुई है. जूही को जलपाईगुडी की अदालत में पेश किया गया जहाँ से उसे 2 दिनों की रिमांग पर भेज दिया है. पुलिस के अनुसार इन लोगों ने दो दर्जन से ज्यादा बच्चों को बेचा है. इस रैकेट ने इन बच्चों को भारत सहित अमेरिका और फ्रांस बेचा है.

18 फरवरी को गिरफ्तार हुई मुख्य आरोपी चंदना चक्रवर्ती ने पूछताछ के दौरान बताया कि जूही चौधरी ने तस्करी रैकेट को लेकर बीजेपी के बड़े नेताओं से मुलाकात की थी. इस मामलें में मुख्य आरोपी ने बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय और बीजेपी सांसद रूपा गांगुली का भी नाम लिया हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

सीआईडी के एजीडी राजेश कुमार ने कहा, ‘जिन लोगों के नाम इसमें सामने आए हैं उनके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा. जांच की जा रही है.’ चंदना ने कहा कि उसे बलि का बकरा बनाया जा रहा है. उसने कहा, ‘जूही ऐसे कामों में बीते तीन साल से लगी है.

सिलीगुड़ी में सीआइडी द्वारा पूछताछ किए जाने के बाद चंदना ने कहा कि वह तो निर्दोष है. इस मामले में भाजपा नेत्री रूपा गांगुली और केंद्रीय नेता कैलाश विजय वर्गीय व जूही चौधरी शामिल हैं. पुलिस को सबसे पहले इन नेताओं को गिरफ्तार करना चाहिए.

Loading...