roshan

मध्य प्रदेश के देवास जिले में खुले पड़े एक बोरवेल में दुर्घटनावश गिरे चार साल के एक बच्चे को सेना, एनडीआरएफ और अन्य दलों ने 35 घंटे तक चले अभियान के बाद सुरक्षित बाहर निकाल लिया. दो दिन से बच्चे को बचाने के लिए दिनरात बचाव और राहत काम में करीब 200 अफसर, कर्मचारी और सेना के जवान लगे हुए थे.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, जिले के खातेगांव क्षेत्र के उमरिया गांव में शनिवार की सुबह लगभग 11 बजे जब रोशन के माता-पिता भीकम सिंह कोरकूव रेखा खेत पर मजदूरी कर रहे थे तभी रोशन खेलते हुए नजदीकी खेत में खुले पड़े बोरवेल के गड्ढे में जा गिरा. रोशन लगभग 33 फुट नीचे फंसा हुआ था.

मध्य प्रदेश: बोरवेल में 27 फीट अंदर फंसे 4 साल के बच्चे काे बचाया गया, सेना को 35 घंटे बाद मिली कामयाबी

रोशन को बचाने के लिए बोरवेल से आठ फीट की दूरी पर जेसीबी, पोकलेन ब्रेकर से बावड़ीनुमा गहरा गड्ढा खोदा गया, जो 38 से 40 फीट गहरा था. इस गड्ढे में सेना और डिजास्टर मैनेजमेंट टीम उतरी और फिर  हैंड कटर मशीन,सब्बल, हथौड़े से दो से तीन फीट गोलाई की सुरंग बनाई गई. बाद में सुरंग के जरिए बच्चे तक पहुंचकर उसे सकुशल बाहर निकाला गया.

मध्य प्रदेश: बोरवेल में 27 फीट अंदर फंसे 4 साल के बच्चे काे बचाया गया, सेना को 35 घंटे बाद मिली कामयाबी

बचाव काम के दौरान रविवार दोपहर 1 बजे पहली बार रोशन की मां रेखा को घटनास्थल पर लाया गया और उसने करीब 2 मिनट बेटे से बात हिम्मत बंधाई. मां को एम्बुलेंस में टेबलेट की स्क्रीन पर बच्चे की तस्वीर दिखाई गई तो उसकी आंखें छलक आई. सेना के हवलदार अवतार सिंह ने रोशन को रस्सी के सहारे सीधा खींचकर बाहर निकाल लिया.

राेशन की मां रेखा ने बेटे से बातचीत के बाद कहा कि मेरी बात हुई है, वह ठीक है पर थोड़ा रो रहा है। आप सब दुआ करें कि वह जल्द ठीक हो जाए.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?