gra

हरियाणा के रोहतक में भी मुस्लिम शख्स के शव को उनके ही कब्रिस्तान मे दफनाने से रोक देने का मामला सामने आया है। जिसको लेकर अब इलाके में तनाव है।

जानकारी के अनुसार, ज़िले के एक गांव टिटौली में ईद उल अज़हा के मौके पर एक बछड़े ने स्थानीय निवासी यामीन की भतीजी को उस वक्त गिरा कर दिया था। जब वह अपने घर के बाहर खेल रही थी। बछड़े को दूर करने के लिए यामीन ने उसे लाठी से मारा। जिसके बाद बछड़ा कुछ कदम चला गया और सड़क के कोने पर मर गया।

लेकिन कुछ असामाजिक तत्वों ने अफवाह फैलाई कि मुस्लिमों ने इसे बकरीद के लिए मार डाला। घटना के बाद आरोपी यासीन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था लेकिन उसके परिवार को गांव छोड़ना पड़ा था। इस दौरान गांव वालों ने बछड़े को कब्रिस्तान के पास ही दफना दिया था और वहां रह रहे मुसलमानों को कब्रिस्तान का इस्तेमाल न करने की धमकी दी थी।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हाल ही में गांव के निवासी 45 वर्षीय जैवर खोक्कर की मौत शनिवार को गुरुग्राम में एक सड़क हादसे में हो गई थी। उसे दफनाने के लिए गांव वाले जब उसे कब्रिस्तान ले गए तो उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा। विरोधियों ने कहा कि वहां उस बछड़े को दफनाया गया था इसलिए उन्हें वहां जैवर को दफनाने की इजाजत नहीं मिलेगी।

इसके बाद मौके पर वहां पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस की सुरक्षा में मृतक के शव को कब्रिस्तान तक ले जाया गया और फिर दफनाया गया।

Loading...