male

male

मुंबई के मालेंगांव में केंद्र की मोदी सरकार द्वारा लाए गए तीन तलाक बिल का 70000 बुर्कानशीं मुस्लिम महिलाओं ने मौन रैली निकाल कर विरोध किया.

इस दौरान इन महिलाओं के हाथों में तख्तियां थीं जिनमें लिखा हुआ था कि वे शरिया में सरकार का हस्तक्षेप नहीं चाहती हैं. ये रैली आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की और से बुलाई गई थी.

रैली के बीच से साइकिल जाने की भी नहीं इजाजत

रैली को लेकर मालेगांव के डीएसपी, गजानन राजमने ने बताया, ‘मालेगांव की सभी सड़कों को मौन प्रदर्शन के लिए खाली करा लिया गया था. हमारे आंकड़ों के मुताबिक करीब 70 हजार महिलाओं ने इस रैली में भाग लिया। रैली को ध्यान में रखते हुए हमने भारी संख्या में महिला पुलिस कर्मियों की तैनाती की थी.’

हांलाकि माना जा रहा है कि इस रैली में 1 लाख से ज्यादा की संख्या में मुस्लिम महिलाओं ने भाग लिया. इस रैली में शामिल होने वाली महिलाओं में कई पेशे से टीचर, वकील और डॉक्टर थीं. इन महिलाओं की मांग है कि वे शरीअत में किसी भी तरह का बदलाव नहीं चाहती है.

रैली में शामिल महिलाओं का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस्लाम के बारे में और अधिक जानकारी हासिल करने की जरूरत है.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें