bhim

bhim

महाराष्ट्र के पुणे जिले में भीमा-कोरेगांव में दलितों के शौर्य दिवस मनाने से नाराज भगवा कार्यकर्ताओं ने बवाल मचाया. इस हिंसा में एक व्यक्ति की मौत की खबर है.

सोमवार को देश भर से भीमा-कोरेगांव की लड़ाई की 200वीं सालगिरह पर आयोजित कार्यक्रम के लिए एकत्रित हुए दलितों पर हाथों में भगवा झंडा लिए भगवा कार्यकर्ताओं ने हमला कर दिया. इस कार्यक्रम में दलित नेता एवं गुजरात से नवनिर्वाचित विधायक जिग्नेश मेवाणी, जेएनयू छात्र नेता उमर खालिद, रोहित वेमुला की मां राधिका, भीम आर्मी अध्यक्ष विनय रतन सिंह और पूर्व सांसद एवं डा. भीमराव अंबेडकर के पौत्र प्रकाश अंबेडकर भी उपस्थित थे.

ये कार्यक्रम 200 साल पहले अंग्रेजों की तरफ से महारों ने पेशवा सेना से युद्ध किया था.अछूत समझे जाने वाले महारों की 500 सैनिकों की सेना ने 28 हजार योद्धा की पेशवा सेना को हरा दिया था. जिसके उपलक्ष्य में हर साल यहाँ पर शोर्य दिवस मनाया जाता है.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हुई है. हालांकि, उसकी पहचान और कैसे उसकी मौत हुई इसका अभी ठीक-ठीक पता नहीं चला है. हिंसा के दौरान कुछ वाहनों और पास में स्थित एक मकान को क्षति पहुंचाई गई.

उन्होंने बताया कि पुलिस ने घटना के बाद कुछ समय के लिए पुणे-अहमदनगर राजमार्ग पर यातायात रोक दिया. गांव में अब हालात नियंत्रण में है. पुलिस बल की कंपनियों समेत अन्य पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है. साथ ही लिस बल की कंपनियों समेत अन्य पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?