उत्तर प्रदेश के 21वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंने के बाद योगी आदित्यनाथ के पिता आनंद सिंह बिष्ट ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुआ कहा कि ‘आज मैं बहुत खुश हूं. मुझे अपने बेटे पर गर्व है. बच्चे अपनी इच्छा से ही काम करें तो वही ठीक है.

उन्होंने योगी के बारें में बताया कि ’योगी बचपन से ही प्रतिभाशाली थे और पढ़ाई में होशियार थे. साल 1993 में उन्होंने जनता की सेवा करने की ठान ली और गोरखपुर चले गए. शुरू में हमें लगा कि वह वहां नौकरी करने गए हैं. उन्होंने कहा योगी में महंत अवैद्यनाथ के लक्षण आ गए हैं.

उन्होंने कहा मैंने भी उसे समझाया कि सर्व सम्भाव रखो. अब तुम बड़े पद पर हो. क‍िसी से बुरा व्यवहार न करो. मुसलमानों से भेदभाव न करो.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

योगी पर सांप्रदायिकता फैलाने के आरोप पर पिता ने कहा, ‘’मुंह से बोलने से कड़वाहट फैलती है. लेकिन अब वो सबको साथ लेकर चलेंगे. मैने उन्हें समझाया है कि आप भविष्य में किसी ऊंचे पद पर जाएंगे इसलिए लोगों के साथ संभाव रखें.

Loading...