अजमेर स्थित महर्षि दयानंद सरस्वती यूनिवर्सिटी के लिए बीएड द्वितीय वर्ष की वन वीक सीरीज में मुस्लिम समुदाय के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी का मामला सामने आया है।जिसके बाद प्रकाशक राजहंस के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है।

प्रकाशक राजहंस की वन वीक सीरिज पेज नम्बर 22 के प्रश्न 21 में मुस्लिमों के खिलाफ बहुसंखयक समाज को भड़काते हुए आपत्तिजनक टिप्पणियाँ प्रकाशित की है। जिसमे मुस्लिम समुदाय को शैक्षिक संस्थानाें में धार्मिक शिक्षा न देने, मुस्लिम समुदाय के लोगों को काे हिंदुओं की संतान मानने, जेहाद के नाम पर आतंकवाद फैलाने और मूर्तियां ताेड़ने, गाैहत्या, धार्मिक जुलूसाें एवं उत्सवाें में पथराव के लिए जिम्मेदार ठहराया है।

मामला सामने आने के बाद राजहंस के खिलाफ माणक चाैक थाने में शिकायत की है। वहीं दूसरे प्रकाशक ठाकुर पब्लिकेशन पर मामला दर्ज करवाने की तैयारी है। मुस्लिम परिषद संस्थान के प्रवक्ता असरार कुरैशी ने बताया कि यह पुस्तक नफरताें का पुलिंदा है। प्रकाशकाें के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई तो आंदोलन करेंगे।

राजस्थान उर्दू शिक्षक संघ के प्रदेशाध्यक्ष अमीन कायमखानी ने बताया दाेनाें किताबाें में समुदाय विशेष पर गलत बातें लिखी है। ठाकुर पब्लिकेशन्स के डायरेक्टर सराेज ठाकुर ने कहा किताब 2014-15 में पब्लिश हुई थी। हमसे स्टाॅक मंगवा लिए थे। राजहंस ने पुरानी किताब लेकर पब्लिश कर दिया, शिकायत भी उन्हीं के खिलाफ हुई है।

वहीं राजहंस पब्लिकेशन्स के डायरेक्टर दीपक ने बताया किताब छपी बाताें काे लेकर संगठनाें काे प्रतिनिधियाें काे माफीनाम दे चुके है।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन