fansi

मध्य प्रदेश के शडहोल में नोटबंदी के कारण एक बेटी की डोली उठने के बजाय उसके सिर से पिता का साया उठ गया. नोटबंदी से परेशान पिता ने आधी रात को घर में फांसी लगाकर जान दे दी.

शहडोल के पहड़िया गांव में रहने वाले 43 वर्षीय प्रेमलाल यादव की बेटी की अगले महीने शादी होना तय थी लेकिन पुराने नोट बंद होने से घर की आर्थिक हालत भी खराब हो गई थी. अगले महीने बेटी की शादी की तैयारियों को लेकर प्रेमलाल परेशान था. जिस कारण दबाव में आकर प्रेमलाल ने आत्महत्या कर ली.

मृतक के भाई बीनू प्रसाद यादव सहित परिजन सुसाइड को नोटबंदी से जोड़ रहे हैं. उनका कहना है कि पुराने नोट बंद होने से इसके घर की अर्थ व्यवस्था गड़बड़ा गई थी.

मामले की जांच कर रहे पुलिसकर्मी अभिषेक शर्मा ने बताया कि पाली पुलिस ने शव का परीक्षण कराकर उसे परिजनों को सौंप दिया है. पुलिस का कहना है कि मामले की विस्तृत जांच की जा रही है, जिसके बाद ही आत्महत्या की वजह का खुलासा हो सकेगा.

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें