उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के दौरान पश्चिमी यूपी में हिंदुओं के पलायन को बीजेपी ने काफी बड़ा मुद्दा बनाया था। लेकिन इस मामले में अब खुद मोदी सरकार ने बताया कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश से हिंदुओं का कोई पलायन नही हुआ है।

गृह राज्य मंत्री हंसराज गंगाराम अहीर ने बुधवार को राज्यसभा में कहा, ‘उत्तर प्रदेश सरकार से इस संबंध में एक रिपोर्ट मिली है. रिपोर्ट के अनुसार, देवबंद, सहारनपुर के बनहेरा खास गांव में हिंदू परिवारों के पलायन से संबंधित कोई मामला सूचित नहीं किया गया है।’

बता दें कि 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान बजरंग दल ने आरोप लगाया था कि कानून व्यवस्था बिगड़ने के कारण देवबंद से 40 हिंदू परिवार पलायन कर गए। बीजेपी के तत्कालीन कैराना सांसद हुकुम सिंह ने भी हिंदुओं के पलायन का मुद्दा उठाया था।

हुकुम सिंह ने कैराना से पलायन करने वाले करीब 340 परिवारों की सूची भी जारी की थी। सूची में सभी नाम हिंदू परिवारों के थे। उन्होने मुस्लिमों के दबाव के चलते हिंदुओं को पलायन के लिए मजबूर होने का दावा किया था। साथ ही गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी शिकायत की थी।

हालांकि बाद में उन्होने कहा था कि ‘मैंने कभी हिंदुओं के पलायन का मुद्दा नहीं उठाया, मेरा मुद्दा सिर्फ पलायन रहा। मैंने कभी ऐसा नहीं कहा कि पलायन किसी वर्ग विशेष के कारण हो रहा है। बढ़ता अपराध कैराना से पलायन का कारण है और उसके लिए यूपी की समाजवादी सरकार जिम्मेदार है, क्योंकि सपा सरकार अपराधियों को रोक पाने में नाकाम रही।’