स्वतंत्रता दिवस के मौके पर केंद्र सरकार द्वारा जारी किये गए सर्कुलर को पश्चिम बंगाल सरकार ने मानने से इनकार कर दिया है. इस सर्कुलर में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने निर्धारित प्रारूप में स्वतंत्रता दिवस मनाने के आदेश दिए थे.

ममता सरकार ने केंद्र सरकार द्वारा जारी  सर्कुलर को काटते हुए निर्देश दिया है कि विभाग ने यह तय किया है कि स्वतंत्रता दिवस 2017 को इस तरह नहीं मनाया जाएगा.” निर्देश में कहा गया है कि स्कूल-कालेज जैसे हर साल स्वतंत्रता दिवस मनाते रहे हैं, वैसे ही इस साल भी मनाएं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

राज्य के शिक्षा मंत्री पार्था चटर्जी ने कहा कि राज्य के लोगों को देशभक्ति पर भाजपा से सबक सीखने की जरूरत नहीं है. केंद्र में सत्तारूढ़ दल को दूसरों को यह बताने का कोई हक नहीं है कि वे स्वतंत्रता दिवस कैसे मनाएं.

चटर्जी ने कहा, “ऐसा नहीं है कि हम केंद्र के प्रस्ताव का विरोध कर रहे हैं. लेकिन हमने कहा है कि यह जश्न हम अपनी तरह से मनाएंगे. हम भाजपा से देशभक्ति का पाठ नहीं पढ़ेंगे. केंद्र में सत्तारूढ़ दल को दूसरों को देशभक्ति पर निर्देश देने का कोई हक नहीं है.”

उन्होंने यह भी कहा कि राज्य के सभी दो लाख स्कूलों में स्वतंत्रता दिवस समारोहों की वीडियोग्राफी कराने का केंद्रीय मंत्रालय का प्रस्ताव व्यावहारिक नहीं है और इस पर अमल नहीं हो सकता. हालांकि उन्होंने कहा कि तृणमूल सरकार ने कोई सर्कुलर नहीं जारी किया है.