उत्तरप्रदेश में मुस्लिम धर्मगुरुओं की मायावती को वोट देने की अपील बसपा को फायदा पहुंचाने के बजाय नुकसानदायक ही साबित हुई हैं.

बसपा को वोट देने के लिए दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना अहमद बुखारी, प्रमुख शिया धर्मगुर और ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के वरिष्ठ सदस्य मौलाना कल्बे जव्वाद सहित कई धर्मगुरु सामने आये थे. लेकिन इनकी अपील का कोई असर नहीं हुआ.

इसके विपरीत मुस्लिम बहुल जिलों में रामपुर, सहारनपुर, मुरादाबाद, अमरोहा, बरेली, आजमगढ़, मउ, शाहजहांपुर, शामली, मुजफ्फरनगर, मेरठ तथा अलीगढ़ की 77 सीटों में से बसपा को कुल चार सीटों पर जीत मिली हैं. वहीँ पांच में से एक भी सीट पर बसपा नहीं जीत सकी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसके अलावा रेली की नौ सीटों में से सभी में बसपा को करारी पराजय का सामना करना पड़ा. तो साथ ही देवबंद की सीट से भी हाथ धोना पड़ा. मउ की सदर सीट को छोड़कर बाकी सभी तीन सीटों पर बसपा को हार का सामना करना पड़ा. मेरठ और अलीगढ़ की भी सभी सात-सात सीटों पर बसपा की बुरी हार हुई.

Loading...