mand

मध्यप्रदेश के मंदसौर में 7 साल की बच्ची से बलात्कार के बाद उसका गला रेत कर मौत के घाट उतारने की कोशिश के मामले मे मुस्लिम समुदाय ने आरोपी के खिलाफ कडा रुख अपनाते हुए उसका सामाजिक बहिष्कार कर दिया। इतना ही नहीं उसके शरीर को जिले में किसी भी कब्रस्तान में दफनाया नहीं जाएगा।

वक्फ अंजुमन इस्लाम कमेटी सदर मोहम्मद यूनुस शेख ने संवाददाताओं से कहा, “समुदाय में ऐसे राक्षस के लिए कोई जगह नहीं है। उसे अपने कार्यों के लिए फांसी दी जानी चाहिए।”

विभिन्न मुस्लिम संगठनों ने आरोपी इरफान मेव उर्फ भैयु के खिलाफ मामला एक फास्ट ट्रैक कोर्ट में तेजी से चलाने और मौत की सजा देने की मांग की है। शेख ने कहा, “इरफान के अपराध को माफ़ नहीं किया जा सकता है। हमने फैसला किया है कि हम जिले में किसी भी कब्रस्तान मे उसके शरीर को दफनाने की इजाजत नहीं देंगे।”

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मुस्लिम नेताओं ने ये भी कहा कि इरफान की मृत्यु पर उसकी नमाज ए जनाजा का भी बहिष्कार किया जाएगा। मुस्लिम नेताओं के इस कदम के बाद मंदसौर वकीलों ने भी उसके मामले की पैरवी से मना कर दिया है। मंदसौर बार एसोसिएशन ने इरफान का बहिष्कार करने का निर्णय लिया और कहा कि पीड़ित लड़की की ओर से 100 वकीलों की एक फौज होगी।

बता दें किआरोपी इरफान स्थानीय मंडी में हम्माल का काम करता है। पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी लड़की के पीछे जाते हुए सीसीटीवी फुटेज मे आने पर की है।

Loading...