हिंदुत्व के खिलाफ मुखर रहने वाले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के भी हिंदुत्व की और अब कदम चल पड़े है. योगी सरकार के फैसलों की कॉपी करते हुए बिहार में भी नीतीश ने एक के बाद एक ताबड़तोड़ फैसले लिए है.

पशुपालन मंत्री पशुपति कुमार पारस ने पदभार संभालते ही राज्य मेंगौहत्या पर प्रतिबंध लगा दिया बल्कि नए बूचड़खाने खोलने पर भी रोक लगा दी है. आदेश में साफ़ तौर पर कहा कि उनका विभाग अब बूचड़खानों के लिए कोई आदेश जारी नहीं करेगा. ऐसे में बड़े पैमाने पर दलित और मुस्लिम समुदाय के बेरोजगार होने की सम्भावना पैदा हो गई है.

याद रहे राज्य में 1955 से ही गौकशी पर रोक है. फिर भी इस सबंध में दुबारा आदेश जारी कर गौहत्या पर रोक लगाने का फैसला लिया गया है. हिंदुस्त्तान टाइम्स के मुताबिक पारस ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि उनका विभाग अब कोई नया पशु वधशाला स्थापित करने का लाइसेंस जारी नहीं करेगा.

गौरतलब रहें कि पारस केंद्रीय मंत्री और लोजपा अध्यक्ष रामविलास पासवान के छोटे भाई हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने उन्हें शनिवार को अपने मंत्रिमंडल में शामिल किया है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?