इफ्तार पर सवाल उठाने को लेकर नीतीश कुमार ने गिरिराज सिंह को बताया ‘अधार्मिक’

12:04 pm Published by:-Hindi News

बिहार में इफ्तार पार्टी पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह केसवाल उठाने को लेकर सियासी बवाल मचा हुआ है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए कहा कि धार्मिक होने का अर्थ केवल अपने धर्म के रीति – रिवाजों को मानना नहीं होता है बल्कि दूसरे धर्म का सम्मान करना भी होता है और जो लोग ऐसा नहीं मानते हैं वे ” अधार्मिक ” हैं।

नीतीश कुमार ने कहा, ” मैं धर्म को मानने वालों के सम्मान में यहां ऐतिहासिक गांधी मैदान में साल 2006 से ईद का कार्यक्रम आयोजित कर रहा हूं। धर्म सिर्फ अपने रीति–रिवाजों का अनुसरण करना नहीं बल्कि दूसरे धर्म को मानने वालों का सम्मान करना भी है।” मुख्यमंत्री ने कहा, ”लेकिन कुछ लोग हैं , जो ऐसा नहीं सोचते हैं। उन्हें लगता है कि खुद के धर्म को मानना काफी है और दूसरे धर्म के रीति – रीवाजों और उनके लोगों को नीचा दिखाना ठीक है। मुझे लगता है कि ऐसे लोग ” अधार्मिक ” हैं।”

नीतीश ने कहा, ” मैं देख रहा हूं कि आप लोग बार – बार एक व्यक्ति का नाम ले रहे हैं। मैं इन सभी लोगों को लंबे समय से जानता हूं। कुछ लोग हैं जो सिर्फ चीजों को इसलिए कहना पसंद करते हैं ताकि वह मीडिया का ध्यान अपनी तरफ आर्किषत कर सकें। मैं उनके किसी भी कथन पर प्रतिक्रिया नहीं देना चाहूंगा।”

बता दें कि केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कुछ फोटो शेयर किया। इन फोटो में बीजेपी नेता और बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के साथ, बिहार के सीएम नीतिश कुमार, रालोसपा नेता और केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान साथ नजर आ रहे हैं। एक फोटो में नीतीश कुमार और हम पार्टी के नेता जीतन राम मांझी साथ नजर आ रहे हैं।

इस ट्वीट के कैप्शन में केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने लिखा- ‘कितनी खूबसूरत तस्वीर होती जब इतनी ही चाहत से नवरात्रि पे फलाहार का आयोजन करते और सुंदर सुदंर फ़ोटो आते?…अपने कर्म धर्म में हम पिछड़ क्यों जाते और दिखावे में आगे रहते है?’ गिरिराज सिंह के इस बयान के बाद बीजेपी अध्यक्ष और देश के गृहमंत्री अमित शाह ने कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने गिरिराज सिंह को इस तरह के बयान दोबारा न देने की हिदायत भी दी थी।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें