महाराष्ट्र के अमरावती की रहने वाली मुस्लिम लड़की नीलोफर ने छह भाषाओं में  मोबाइल एप्लीकेशन तैयार किया है. जिसके चलते वह पुणे में अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित हुई.

बीडीएस की पढ़ाई करके नीलोफर शेख ने के इस कारनामें के लिए उन्हें अंतराष्ट्रीय इन्वेशन ऑफ द ईयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया. नीलोफर  के अनुसार, इस ‘मोबाइल एप्लिकेशन” से दुनिया भर के लोग कहीं भी बैठकर विश्व प्रसिद्ध प्रामाणिक डॉक्टरों से अपनी बीमारी का मुफ्त इलाज और सलाह ले सकते हैं.

अंतराष्ट्रीय स्तर का सम्मान प्राप्त करने वाली नीलोफर शेख का कहना था कि उसके माता पिता का सर्वश्रेष्ठ मार्गदर्शन और प्रोत्साहन ही सफलता की गारंटी है, मेरे पिता सुल्तान शेख जो एक सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारी और माता गृहिणी हैं अपने बच्चों की पढ़ाई के लिए हर तरह की कुर्बानियां दी हैं और मेरा सम्मान हासिल करना भी माता पिता का कृतज्ञ है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

नीलोफर कहती है कि समाज में लड़कियों की शिक्षा समय की जरूरत है. नीलोफर का मानना है कि किसी भी राष्ट्र के विकास का दारोमदार इस राष्ट्र के शैक्षिक विकास होता है. अगर देश की लड़कियां शिक्षा के क्षेत्र में विकास करती हैं राष्ट्र विकास करेगा.

Loading...