राजस्थान में हुए उपचुनाव में बीजेपी को सभी सीटों पर बड़ी हार का सामना करना पड़ा है. अलवर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार डॉ. करण सिंह यादव ने बड़ी जीत दर्ज करते हुए बीजेपी उम्मीदवार डॉ. जसवंत सिंह यादव को करीब 45 हजार वोटो से हरा दिया.

कांग्रेस उम्मीदवार डॉ. करण सिंह को 5,2,0434 जबकि बीजेपी उम्मीदवार डॉ. जसवंत सिंह को 3,75,520 वोट मिले हैं. अलवर में बीजेपी की हार को अहम माना जा रहा है. यह सीट पहले बीजेपी के ही पास थी. साथ ही राज्य और केंद्र की सत्ता में पार्टी का शासन होने के बाद ये हार मिली है.

राजनीतिक पंडित इस हार के लिए सबसे बड़ा कारण गाय को मान रहे है. लोगों का कहना है कि बीजेपी की हार के पीछे गौरक्षा के नाम पर की गई हिंसा मुख्य वजह रही. साथ ही बीजेपी की और से ध्रुवीकरण करने के लिए बनाया गया सांप्रदायिक माहौल.

ध्यान रहे चुनाव से ठीक पहले बीजेपी उम्मीदवार डॉ. जसवंत सिंह यादव ने बयान दिया था कि “हिन्दू हो तो वोट मुझे देना मुस्लिम हो तो कांग्रेस प्रत्याशी कर्ण सिंह को वोट देना.” यह विवादित वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था.

इस बारे में मेव पंचायत के संरक्षक शेर मोहम्मद का कहना है कि  “अलवर में गायों के नाम पर मुस्लिमों को लगातार टारगेट किया गया है. इसकी वजह से मुस्लिम वोट एकतरफा कांग्रेस को पड़ा है. दो मुस्लिम प्रत्याशियों को भी समाज ने वोट नहीं दिया. क्योंकि उन्हें लगता था कि वोट बंटा तो बीजेपी जीत जाएगी. यहां करीब 3.65 लाख मुस्लिम वोटर हैं.”

शेर मोहम्मद कहते हैं कि “पिछले दस माह की घटनाओं को देखें तो अलवर गाय संबंधित हिंसा का केंद्र रहा है. पहलू खान, उमर मोहम्मद और तालिम हुसैन गोतस्करी के नाम पर मारे जा चुके हैं. जिसमें से एक का तो पुलिस ने एनकाउंटर किया था. इसलिए पूरे मुस्लिम समाज में सत्ता के खिलाफ नाराजगी थी, जिसे वोट के जरिए लोगों ने प्रकट किया है.”

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?