Sunday, September 19, 2021

 

 

 

ओवैसी के सर्वे में सामने आई पार्टी की जमीनी हकीकत, आठ जिलाध्यक्षों को दिखाना पड़ा बाहर का रास्ता

- Advertisement -
- Advertisement -

Owaisi_1

ऑल इण्डिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लमीन (एआईएमआईएम) के राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद असदउददीन ओवैसी ने आगामी उत्तरप्रदेश के विधानसभा चुनावों में सभी सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी हैं. ऐसे में उन्होंने जब जमीन पर संगठन की मजबूती परखी तो उनके होश ही उड़ गए.

सांसद ओवैसी ने यूपी की 16 विधानसभा सीटों पर गुप्त रूप से एक सर्वे कराया. ये सर्वे ओवैसी की निगरानी में बहराइच सदर, नानपारा,शोहरतगढ़, उतरौला, डुमरियागंज, बलरामपुर और गोण्डा की 16 विधान सभा सीटों पर कराया गया. सर्वे के दौरान हैदराबाद से आए पार्टी के दस पदाधिकारियों की टीम ने गोपनीय ढंग से मतदाताओं से पार्टी के बारें में फीडबेक ली.

सर्वे के तहत हर विधान सभा सीट से पांच सौ लोगों से बातचीत की गयी. सर्वे की जो रिपोर्ट राष्ट्रीय अध्यक्ष ओवैसी को सौंपी गई उसके निष्कर्षों में कहा गया कि जमीनी स्तर पर पार्टी का संगठनात्मक ढांचा कमजोर है. साथ ही पार्टी की गतिविधियां और जानकारी को आम लोगों तक पहुंचाने की जिम्मेदारी जिन लोगों पर डाली गई उनमें से तमाम लोग अपने-अपने इलाके में सक्रिय नहीं नजर आए.

ऐसे में ओवैसी ने अपने आठ जिलाध्यक्षों को पहले ही बाहर का रास्ता दिखाया और कई संभावित प्रत्याशियों को क्षेत्र में कमजोर पकड़ पर सख्त चेतावनी भी दी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles