मध्यप्रदेश के मंदसौर में एक बार फिर से सात वर्षीय बालिका के साथ दरिंदगी का मामला सामने आया है। जानकारी के अनुसार बुधवार रात मदारपुरा निवासी एक महिला ने सिटी कोतवाली पहुंचकर शिकायत की। महिला ने पुलिस को बताया कि शाम 7 बजे सात वर्षीय बच्ची खेल रही थी।

पड़ोस में रहने वाला कालूराम पिता मांगीलाल उसे घर से उठा कर ले गया। अपने घर ले जाकर उसने बच्ची से ज्यादती का प्रयास किया। बच्ची रोने लगी। आवाज सुनकर महिला कालूराम के घर पहुंची। जहां वह बच्ची को गोद में बिठाकर चुप करा रहा था। वह बच्ची को लेकर घर पहुंची। बच्ची ने पूरी बात अपनी मां को बताई। बच्ची से ज्यादती के मामले में पुलिस ने केस दर्ज कर 50 वर्षीय वयक्ति को गिरफ्तार कर लिया।

Loading...

खबर के सामने आने के बाद इलाके में तनाव है। घटना के बाद वाहनों में तोड़फोड़ की भी खबर है। पुलिस ने हवाई फायर कर स्थिति को काबू में किया। पुलिस ने बवाल कर रहे संदिग्ध युवकों को हिरासत में लिया है। मुस्लिम समाज ने घटना के विरोध में पुलिस अधीक्षक विवेक अग्रवाल और कोतवाली थाने पर सीएसपी नरेंद्र सौलंकी को ज्ञापन दिया।

पुलिस ने मामले में आरोपित कालूराम को गिरफ्तार कर भादसं की धारा 376 (ए,बी), 450, पाक्सो एक्ट की धारा 5एम, 6 के तहत प्रकरण दर्ज कर शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया। जहां से आरोपी को जेल भेज दिया गया। थानाप्रभारी नरेंद्र ङ्क्षसह यादव ने बताया कि कालूराम को न्यायालय में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

मासूम से ज्यादती के मामले में पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहे है। रिपोर्ट लिखने के लिए रातभर फरियादी व परिजन को थाने पर बैठाए रखा।पुलिस ने घटना के अगले दिन रिपोर्ट लिखी। फिर मेडिकल कराया व दोपहर 12 बजे बच्ची का इलाज कराए बगैर ही सभी को घर भेज दिया।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें