मेरठ: जहाँ पूरे देश सहित दुनिया भर के भारतीय आज गणतंत्र दिवस के मौके पर खुशिया मना रहे हैं वहीँ हिन्दू महासभा ने 26 जनवरी की पूर्व संध्या पर काला झंडा फहरा कर एक बार से पुरे देश को शर्मसार किया हैं.

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के कातिल नाथूराम गोडसे को शहीद का दर्जा देने वाली हिन्दू महासभा ने पहली बार ऐसा नहीं किया हैं, महासभा हर प्रतिवर्ष देश के राष्ट्रीय दिवसों का अपमान करती आती रही हैं.

इस दौरान महासभा ने राष्ट्रपति के नाम सौंपे एक ज्ञापन में भारत के संविधान को निरस्त कर इसे हिन्दू राष्ट्र बनाने की मांग भी की गई हैं. इसके साथ पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंचे, लेकिन कोई कारवाई करने के बजाय केवल तमाशा ही देखते रहे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हिन्दू महासभा पिछले पचास वर्षों से इसी तरह इस दिन को काले दिवस के रूप में मना रही है. ऐसे में सवाल उठता हैं कि केंद्र और राज्य सरकार ऐसे लोगों पर कारवाई न करके एक अलगाववाद को बढ़ावा नहीं दे रही हैं.

Loading...