देश में कोरोना महामारी का प्रकोप तेजी से फ़ेल रहा है। वहीं अस्पतालों ने कोरोना की आड़ में अपना गोरखधंधा शुरू कर दिया है। यूपी के मेरठ में 2,500 रुपये में कोरोना टेस्ट की फर्जी निगेटिव रिपोर्ट देने के मामले में एक अस्पताल पर कार्रवाई की गई है।

एनडीटीवी के अनुसार अस्पताल का एक विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। जिसके बाद हापुड़ रोड़ के न्यू मेरठ हॉस्पिटल के मैनेजर शाह आलम के खिलाफ लिसाड़ी गेट थाने में FIR दर्ज कराई गई। वहीं सीएमओ डॉ राजकुमार ने हॉस्पिटल का लाइसेंस निलंबित कर दिया है। डीएम अनिल ढींगरा के आदेश पर हॉस्पिटल को सील करने की तैयारी की जा रही है।

वायरल हुए विडियो में आरोपी मेनेजर बोल रहा है कि यह रिपोर्ट जिला अस्पताल से बनेगी और कोई भी उस रिपोर्ट पर उंगली नहीं उठा पाएगा क्योंकि वहां की मुहर भी होगी और रिपोर्ट के आधार पर कोई कहीं भी जा सकेगा और उसे क्‍वारंटाइन नहीं होना पड़ेगा।

सीएमओ मेरठ डॉ. राजकुमार ने बताया कि उप मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ गोपाल सिंह ने न्यू हॉस्पिटल के मालिक शाह आलम के खिलाफ लिसाड़ी गेट थाने मे मुकदमा दर्ज करा दिया है। थाना प्रभारी प्रशांत कपिल का कहना है कि शाह आलम की तलाश की जा रही है।

उन्होने बताया, शाह आलम की गिरफ्तारी के लिए दो टीमें बनाई गई है। निगेटिव रिपोर्ट तैयार करने वाले गैंग की तलाश के लिए शाह आलम और अन्य स्टॉफ के लोगों के नंबर को सर्विलांस पर लगाया गया है। जल्द ही शाह आलम को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन