nak

nak

छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में बुधवार को गणतंत्र दिवस से पहले नक्सलियों ने घात लगाकर हमला किया. जिसमे चार सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए. शहीदों में दो एसआई और दो आरक्षक बताए जा रहे हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जिले में बड़ी संख्या में पुलिस के जवान सर्च ऑपरेशन पर निकले थे. इस दौरान घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने जवानों पर अचानक हमला कर दिया. शहीदों के शवों को लाने के लिए जगदलपुर से हेलीकॉप्टर रवाना हो गया है. वहीं दूसरी ओर घायलों को अस्पताल भेजा जा रहा है. गंभीर तौर पर घायलों को रायपुर के अस्पताल भेजा जायेगा.

पुलिस का दावा है कि इस मुठभेड़ में काफी संख्या में नक्सलियों को भी गोली लगी है. बता दें कि बस्तर में सुरक्षा बल नक्सलियों के खिलाफ लगातार अभियान चला रही है. इससे नक्सली बौखलाए हुए हैं. मंगलवार को बीजापुर में नक्सली और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई थी. इसमें नक्सली हथियार छोड़कर भाग खड़े हुए थे.

नक्सलियों ने फरसपाल के पहाड़ी क्षेत्र में निर्माण कार्य में लगे तीन वाहनों को आग लगा दी थी. तुमनार के साप्ताहिक बाजार में सिलसिलेवार बम विस्फोट किए  थे, जिससे बाजार में अफरातफरी मच गई थी. इसमें एक जवान को हल्की चोट भी आई थी. इससे पहले बीजापुर में हुई मुठभेड़ के सीआरपीएफ जवानों ने एक महिला नक्सली समेत 2 नक्सलियों को मार गिराया गया था.

ध्यान रहे हाल ही में गृहसचिव वीवीआर सुब्रमण्यम ने एक प्रेस वार्ता में दावा किया था कि वर्ष 2022 तक नक्सलवाद खत्म हो जाएगा. उन्होंने कहा था कि अब सिर्फ बीजापुर और सुकमा में ही नक्सलियों की मौजूदगी है. इस दौरान उन्होंने यह भी जानकारी दी थी कि बस्तर में 60 से 65 फीसदी नक्सलियों का सफाया हो गया है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?