नागालैंड के दीमापुर में  स्थानीय निकाय के चुनाव में महिलाओं के 33 प्रतिशत आरक्षण देने के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों ने मुख्यमंत्री टी आर जेलिआंग के घर में आग लगा दी.

72 घंटों से चल रही हिंसा ने आज आक्रामक रूप लेते हुए कोहिमा नगर पालिका परिषद भवन, क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय व उत्पाद कार्यालय भवन में आग लगा दी, वहीं राज्य निर्वाचन आयुक्त कार्यालय एवं उपायुक्त कार्यालय में तोड़फोड़ की. इसके अलावा कई वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया गया है. बिगड़ते हालात के मद्देनजर कोहिमा में सेना तैनात कर दी गयी है.

बिगड़ते हालत को देखते हुए केंद्र सरकार ने असम राइफल्स की भी तैनाती की है. इस बीच नागालैंड के डीजीपी ने गृह मंत्रालय को रिपोर्ट भेजी है. इस रिपोर्ट में नागालैंड के सीएम के जान पर खतरा बताया गया है. उनके घर की सुरक्षा को लेकर खास निर्देश दिये  गये हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

हिंसक प्रदर्शनों को देखते हुए राज्य में इंटरनेट सेवा रोक दी गई है. दरअसल यह हिंसा उस वक्त भड़की जब विरोध प्रदर्शन के दौरान पुलिस से झड़प में दो युवकों की मौत हो गई. जनजातीय संस्था यहां महिलाओं को चुनाव आरक्षण देने का विरोध कर रही हैं.

Loading...