namaz 1 march 1

साइबर सिटी गुड़गांव में हिंदूवादी संगठनों के दबाव में हरियाणा की खट्टर सरकार ने खुले में शुक्रवार की नमाज़ को सीमित कर दिया है. बताया जा रहा है कि मुस्लिमों के नमाज के लिए 9 स्थान निर्धारित किये गए है.

मुस्लिम पक्ष की लड़ाई लड़ रहे वाजिद खान नेहरू युवा संगठन के अध्यक्ष शहजाद खान ने बताया कि पुलिस ने नमाज के लिए वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर नौ स्थान बताए हैं जो नाकाफी हैं, क्योंकि पिछले शुक्रवार तक गुड़गांव में 115 स्थानों पर नमाज़ हो रही थी.

शहजाद ने बताया कि उनकी पुलिस के साथ बैठक होने वाली है ताकि नमाज़ की जगह बढ़ाई जाए. एमजी रोड जैसे कई क्षेत्र ऐसे हैं जिसमें जगह नहीं दी जा रही है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

गुड़गांव पुलिस ने नमाज के लिए ऑफर किए ये स्थान

  • ताऊ देवीलाल स्टेडियम
  • लेजर वैली पार्क कच्चा ग्राउंड
  • मेदांता अस्पताल के पीछे
  • रॉकलैंड अस्पताल मानेसर के पीछे, सेक्टर-5
  • धनचरी, नजदीक सिरहौल बॉर्डर के पास सरकारी जमीन पर
  • विजिलेंस कार्यालय के सामने सेक्टर-47
  • सेक्टर 5 हुडा ग्राउंड
  • ओबेरॉय होटल के पीछे (एचएसआईआईडीसी)
  • ताऊ देवीलाल पार्क सेक्टर 22

(मुस्लिमों की लड़ाई लड़ रहे शहजाद खान के अनुसार)

New Doc 2018-05-06

वहीँ दूसरी और हरियाणा वक्फ बोर्ड ने भी प्रशासन को अपनी ऐसी 19 प्रॉपर्टी की सूची दी हुई जिन पर या तो कब्जा है या फिर गांव वाले वहां नमाज नहीं पढ़ने देते. बोर्ड ने कहा कि हमारी जमीन पर कब्जा है इसलिए लोग खुले में नमाज पढ़ने को मजबूर हैं. ऐसे में प्रशासन को यह कब्जा खाली करवाना चाहिए, तब तक वे जहां नमाज पढ़ रहे हैं पढ़ने देना चाहिए.