Tuesday, June 28, 2022

मुस्लिमों ने किया हिन्‍दू महिला का अंतिम संस्‍कार, बच्‍चों की परवरिश की भी ली ज़िम्मेदारी

- Advertisement -

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के ठाकुरंगज में मुस्लिमों ने बड़ी मिसाल पेश करते हुए न केवल एक बेसहारा हिन्‍दू महिला का अंतिम संस्‍कार किया। बल्कि उसके दो अनाथ बच्चों की परवरिश का जिम्मा भी उठाया।

जानकारी के अनुसार, ठाकुरगंज थाना क्षेत्र के गढ़ी पीर खां इलाके में राजकुमारी नाम की महिला अपने दो छोटे-छोटे बच्चों संग किराये के मकान में रहती थी। वर्षों से पति के लापता रहने के कारण वह लोगों के घरों में चौका-बर्तन कर अपना और बच्चों का पालन-पोषण कर रही थी।

गुरुवार को अचानक उसकी तबियत काफी खराब हो गई, जिसे राजधानी के केजीएमयू अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां शुक्रवार को उसकी मौत गई। मोहल्ले के लोग उनके शव को लेकर आए।

Courtesy: Lokbharat

गढ़ी पीर खां वार्ड से पार्षद अल्ला प्यारे के पार्षद के मुताबिक इस दौरान मृतिका के परिवार के बारे में कोई जानकारी नहीं होने पर अंतिम संस्कार पर सवाल खड़ा हो गया। दोनों बच्चे भी मां को मृत देखकर बुरी तरह रो रहे थे। कुछ देर मशवरे के बाद आसपास के लोगों ने ही बच्चों की देखरेख के साथ अंमित संस्कार कराने का फैसला लिया।

अल्ला प्यारे ने बताया मृतक महिला की मौत के बाद उसके परिवार में सिर्फ दो छोटे-छोटे बच्चे थे। ऐसे में इन्हीं युवाओं ने मासूम बच्चों की परवरिश के लिये मोहल्ले के लोगों से चंदा भी इकट्ठा किया।

इसके अलावा मोहल्ले के ही बहुत से लोगों ने मासूम बच्चों की मदद का आश्वासन दिया है। पार्षद ने बताया कि बच्चों की परवरिश के लिये जो लोग मदद करेंगे, उस धनराशि को बच्चों का अकाउंट खुलवाकर जमा कराया जाएगा।

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles