जयपुर के सिंधी कैप थाना इलाके में स्थित होटल हायात रब्बानी में पुलिस की मिली भगत से बीफ परोसने के झूठे आरोप में मुस्लिम युवको को पीटे जाने के मामलें में अब पीपुल्स यूनियन फार सिविल लिबर्टिज (पीयूसीएल), जमाअत ए इस्लामी हिन्द, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी), महिला जनवादी संगठन समेत करीब बीस संगठनों ने मौर्चा खोल दिया हैं.

दरअसल, पुलिस ने राष्ट्रीय गो रक्षा दल की अध्यक्ष साध्वी कोमल की कथित शिकायत पर चिकन होने के बावजूद भी गौमांस परोसे जाने की झूठी शिकायत दर्ज की. उसके बाद होटल को सील किया. साथ ही होटल के दो कर्मचारियों को भी गिरफ्तार कर लिया था. संगठनों ने पुलिस उपायुक्त अशोक गुप्ता समेत अन्य पुलिस अधिकारियों को निलम्बित करने की मांग की है.

पीयूसीएल की महासचिव कविता श्रीवास्तव के नेतृत्व मेंं बीस से अधिक संगठनों ने आज जयपुर पुलिस आयुक्त संजय अग्रवाल और जयपुर नगर निगम के महापौर अशोक लाहोटी के नाम सौंपे ज्ञापन में कहा कि पुलिस, जयपुर नगर निगम और गौरक्षा दल की मिलीभगत पर एक होटल के खिलाफ मांस के अवशिष्ट खुले में फेंके जाने और अन्य मामलों की झूठी प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज की गई और नगर निगम ने होेटल को रात को ही सील करने की कार्रवाई की है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ज्ञापन में कहा गया कि इस प्रकरण के जिम्मेदार पुलिस अधिकारियों को निलम्बित करने के अलावा, होटल की सील तुरंत खोलने, होटल प्रबंधन के खिलाफ दर्ज की गई रिपोर्ट को खत्म करने की भी मांग की गयी है.

Loading...