muslim12

muslim12

झारखंड के जमशेदपुर में मुस्लिम महिलाओं ने सड़कों पर उतरकर उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू द्वारा लोकसभा में दिए गए वक्तव्य में मुस्लिम औरतों को लेकर की गई टिप्पणी का विरोध किया.

मुस्लिम वीमेंस ऑर्गनाइजेशन नामक नवगठित संस्था के बैनर तले शनिवार को डीसी ऑफिस पर मुस्लिम महिलाओं ने प्रदर्शन किया. करीब 100 से ज्यादा महिलाओं ने हाथों में तख्ती लिए उपायुक्त कार्यालय परिसर में तीन तलाक कानून के समर्थन में करीब तीन घंटे तक प्रदर्शन किया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

प्रदर्शन के उपरांत प्रधानमंत्री के नाम एक ज्ञापन उपायुक्त को सौपा. ज्ञापन के माध्यम से मांग की गई कि PROTECTION RIGHT IN MARRIGE ACT 2017  जल्दबाजी में लिया गया निर्णय है. इस बिल की तैयारी मे किसी मुसलमान आलिमे दीन या इस्लामी विद्धानो सलाह मशहरा नही लिया गया है.

ज्ञापन में कहा गया कि माननीय सर्वौच्च न्यायालय के फैसले के बाद  ऐसे बिल की आवश्यकता नही थी. यह बिल असल में भारतीय संविधान की धाराओ और मुस्लिम औरतो तथा बच्चो के बुनियादी अधिकार के सख्त विरुद्ध है. ज्ञापन के माध्यम से इस बिल को वापस लेने की मांग के साथ इस पर दोबारा विचार किया जाए.ताकि मुस्लिम औरतो के अधिकार से इन्साफ मिल सके.

इसके अलावा मुस्लिम महिलाओं ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू द्वारा लोकसभा में दिए गए वक्तव्य के उस अंश को रिकार्ड से हटाने की भी मांग की. जिसमे मुस्लिम महिलाओं को लेकर टिप्पणी की गई.

Loading...