syyr

सीरिया में हो रहे कत्लेआम के खिलाफ बुधवार को राजधानी रांची में सड़कों पर उतर कर इस कत्लेआम को रोके जाने की मांग की.

वेक अप फॉर ह्यूमैनिटी आदि प्ले कार्ड लिए मुस्लिम महिलाओं का हुजूम उर्दू लाइब्रेरी के पास से मौन जुलूस की शक्ल में सर्जना चौक होते हुए अलबर्ट एक्का चौक तक गया. अल्बर्ट एक्का चौक पहुंच कर यह मानव श्रृंखला में बदल गया.

जुलूस में शामिल महिलाओं के हाथों में तख्तियां थी. तख्तियों में सीरिया में औरतों, बच्चों और बुजूर्गों का हो रहे कत्लेआम को बंद करने और सम्राज्य नीति को बंद करने की मांग की गई.

सीरिया में निर्दोष लोगों के कत्लेआम के खिलाफ मुस्लिम महिलाओं का मौन जुलूस

फेडरेशन की संयोजिका खुशबू खान ने कहा कि हम भारत सरकार से अनुरोध करते हैं कि संयुक्त राष्ट्र संघ पर सीरिया मामले में दखल देने के लिए दबाव बनाए.

फेडरेशन की सह संयोजक डॉ. शगुफ्ता यास्मीन ने कहा कि सीरिया की तबाही के लिए राष्ट्रपति बशर-अल असद जिम्मेदार हैं. एक मां होने के नाते हमने वीमेंस डे सेलिब्रेट भी नहीं किया.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें