muslim people praying
source: Youtube

मराठा आरक्षण आंदोलन के बीच मुस्लिम समुदाय ने भी 5 फीसदी आरक्षण की मांग उठाते हुए मुस्लिम क्रांति मोर्चा का गठन किया है। ताकि राज्य सरकार पर उन्हें सरकारी नौकरियों और शिक्षा में 5 फीसदी आरक्षण दिये जाने को लेकर दबाव बनाया जाये।

समाजवादी पार्टी के महाराष्ट्र अध्यक्ष अबू आसिम आजमी के नेतृत्व में मुस्लिमों ने मुस्लिम क्रांति मोर्चा का गठन किया है।आजमी ने कहा, ‘यह एक व्‍यापक आंदोलन है जिसे सभी पार्टियों का समर्थन होगा। हमने इसे शुरू किया है क्‍योंकि हमें लगता है कि मराठा क्रांति मोर्चा मराठों के लिए आरक्षण हासिल करने में लगभग सफल हो गया है। हम भी मुसलमानों के आरक्षण के लिए लड़ाई लड़ेंगे।’

उन्‍होंने कहा क‍ि बांबे हाई कोर्ट के शिक्षा में 5 फीसदी आरक्षण देने की अनुमति के बाद भी राज्‍य सरकार मुस्लिम आरक्षण पर चुप है जबकि मराठों को 16 फीसदी आरक्षण देने के लिए कदम उठा रही है।

वहीं वरिष्‍ठ ऊदू पत्रकार सरफराज आरजू ने कहा कि मुस्लिम समुदाय में यह विचार घर कर गया है कि आरक्षण हासिल करने की दौड़ में वे पीछे छूट गए हैं। इसलिए एक संगठित आंदोलन की जरूरत थी। बता दें कि मुस्लिम आरक्षण की मांग को शिवसेना ने भी अपना समर्थन दिया है।

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने  कहा, ‘मराठा के अलावा धांगड़, मुस्लिम और अन्‍य समुदायों के आरक्षण की मांग पर भी गौर करना चाहिए। हमारी पार्टी इस मसले पर केंद्र सरकार का पूरा समर्थन करेगी।’ मुस्लिमों को आरक्षण देने के मुद्दे पर उद्धव ने कहा कि यदि उनकी मांग तर्कपूर्ण और जायज है तो उस पर विचार किया जाना चाहिए।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें