223

रोहतक: हरियाणा के रोहतक ज़िले के एक गांव टिटौली में बुधवार को 18 महीने के एक बछड़े का शव मिलने के बाद जमकर बवाल मचा। ग्रामीणों ने अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के घरों को निशाना बनाया। इस दौरान दो मुसलमान युवकों की पिटाई भी की गई।

जानकारी के अनुसार, बछड़े ने स्थानीय निवासी यामीन की भतीजी को उस वक्त गिरा कर दिया था। जब वह अपने घर के बाहर खेल रही थी। बछड़े को दूर करने के लिए यामीन ने उसे लाठी से मारा। जिसके बाद बछड़ा कुछ कदम चला गया और सड़क के कोने पर मर गया। लेकिन कुछ असामाजिक तत्वों ने अफवाह फैलाई कि मुस्लिमों ने इसे बकरीद के लिए मार डाला। यामीन और उसके परिवार ने गांव से भागना पड़ा।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पुलिस के अनुसार दोनों युवकों यामीन और शौक़ीन को हिरासत में लिया गया है। उनके ख़िलाफ़ हरियाणा गौवंश संरक्षण और गौसंवर्धन कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है और पूछताछ जारी है। उप पुलिस अधीक्षक का कहना है, कुछ जाट युवकों ने यामीन के घर पर जा कर तोड़फोड़ भी की है। यामीन के परिवारवालों को वहां से सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया है। वो बताते हैं कि साथ ही गुस्साई भीड़ ने मुसलमान समुदाय से जुड़ी एक इमारत की एक तरफ की दीवार तोड़ दी है।

दहशत में मुस्लिम समुदाय के करीब 20 परिवारों ने गांव छोड़ दिया है। उनके घरों पर ताले लगे हैं। ये लोग रिश्तेदारों के घर चले गए हैं। ग्रामीणों ने यामीन के परिवार का बहिष्कार करने की मांग की है। इस पर गुरुवार को पंचायत बुलाई गई है।

3 डॉक्टरों से कराया पोस्टमार्टम, कब्रिस्तान में दफनाया 

पुलिस ने 3 डॉक्टरों के मेडिकल बोर्ड के माध्यम से गोवंश का पोस्टमार्टम कराया। इसके बाद शव को दफनाने को लेकर विवाद हो गया। ग्रामीण बोले कि वे गोवंश के शव को कब्रिस्तान में दफनाएंगे। लेकिन जिला प्रशासन इसे वक्फ बोर्ड की जमीन बताकर अन्य जगह दफनाने की अपील करने लगा। ग्रामीणों और अधिकारियों के बीच जमकर कहासुनी हुई। प्रशासन ने समुदाय विशेष के लोगों से शव दफनाने पर बात की। उनकी सहमति मिलने पर ग्रामीणों ने दोपहर बाद 3 बजे कब्रिस्तान में गोवंश के शव को दफनाया।

Loading...