आल इंडिया उलेमा मसाईख बोर्ड की और से आगामी विधानसभा चुनावों में बसपा प्रमुख मायावती को समर्थन दिया गया हैं. बोर्ड की और से समाजवादी पार्टी को वोट नहीं देने की अपील की गई हैं.

बोर्ड के अध्यक्ष की और से बसपा को एक मात्र मुस्लिम हितेषी पार्टी करार देते हुए कहा गया कि मायावती ने अपने कार्यकाल में मुस्लिम समाज के लिये कई बेहतर काम किए है.

बोर्ड की और से आगे कहा गया कि बसपा के कार्यकाल मे मुसलमानों को सम्मान मिला. अधिकारीयों ने छोटी-छोटी समस्याओं को भी गंभीरता से लिया.

याद रहें कि मुस्लिम आरक्षण के अधूरे वादे और सांप्रदायिक दंगों की वजह से यूपी का मुस्लिम समाज सपा से काफी गुस्सा हैं. हाल के दिनों में शिया और सुन्नी उलेमाओं ने एक साझा प्रेस कांफ्रेंस करके सपा का बहिष्कार किया था.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें