मुंबई: दरवाजे पर बकरी बांधना हुआ गुनाह, पड़ोसी ने 7 साल के मुस्लिम बच्चे पर पेट्रोल डाल लगा दी आग

मुंबई के नालासोपारा इलाके में दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है। बकरी बांधने के विवाद में एक 7 साल के मुस्लिम बच्चे को पेट्रोल डाल जिंदा जला दिया गया। बच्चे की इलाज के दौरान 7 दिन बाद मौ’त हो गई।

जनसत्ता की रिपोर्ट के अनुसार, 30 दिसंबर 2018 को 7 साल का पीड़ित फैजान कुरैशी अपने घर के बाहर खेल रहा था। उस दौरान उसने अपनी बकरी पड़ोस में रहने वाले श्रीवास्तव परिवार के दरवाजे पर बांध दी।

आरोप है कि इससे नाराज होकर आलोक श्रीवास्तव और आकाश श्रीवास्तव ने पेट्रोल डालकर बच्चे को जिंदा जला दिया। बताया जा रहा है कि इस घटना के वक्त फैजान के माता-पिता घर में नहीं थे। दोनों बहनों ने मामले की जानकारी उन्हें दी, जिसके बाद बच्चे को हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया।

पुलिस के मुताबिक, 7 साल का पीड़ित फैजान दूसरी कक्षा का छात्र था। वह अपने पिता इजहार कुरैशी, मां समौजा और 2 बड़ी बहनों के साथ नालासोपारा में संतोष भुवन के पास ग्राउंड फ्लोर पर रहता था। पुलिस के मुताबिक, आरोपी आलोक श्रीवास्तव छोटी-सी मोबाइल शॉप चलाता है, जबकि आकाश बेरोजगार है।

source: iStock

पालघर के एसपी गौरव सिंह ने बताया कि 5 जनवरी को दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया। उनके खिलाफ ह’त्या की कोशिश का केस दर्ज किया गया था। वहीं, फैजान की मौत के बाद म’र्डर केस दर्ज कर लिया गया। इस मामले में बच्चे की मां ने एफआईआर दर्ज कराई थी।

मौ’त से पहले फैजान ने पुलिस को बताया, ‘‘आलोक और आकाश ने मुझे एक खंभे से बांध दिया था। इसके बाद उन्होंने मुझ पर पेट्रोल डाला और आग लगा दी।’’ पुलिस ने बताया कि फैजान 50 प्रतिशत जल गया था। वहीं, उसके सीने, गर्दन और पीठ समेत अन्य अंग बुरी तरह जल गए थे।

विज्ञापन