उत्तर प्रदेश में जैसे-जैसे चुनावी तारिख करीब आ रही हैं वैसे-वैसे यहाँ के चुनावी दंगल के योद्धा अपनी किस्मत पर दांव खेलने के लिए तैयार हैं. उत्तर प्रदेश के बाहुबली नेता मुख़्तार अंसारी जोकि काफी फेमस व्यक्ति हैं. उन्होंने साईकिल का साथ छोड़ कर हाथी (यानि बहुजन समाज पार्टी BSP) पर बैठना का फैसला कर लिया हैं.

हाल ही में मुख़्तार अंसारी की पार्टी कौमी एकता दल का समाजवादी पार्टी में विलय हुआ था, जिसका अखिलेश ने एड़ी चोटी लगाकर विरोध किया, यहां तक कि इस्तीफा देने की धमकी भी दे दी.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

लेकिन यादव परिवार में टीपू से टीपू सुल्तान बनने के बाद अखिलेश ने मुख्तार का टिकट काट दिया था, जिसके बाद ये कयास लगाए जा रहे थे कि मुख्तार निर्दल ही मऊ से चुनाव में खड़े होंगे.

लेकिन अखिलेश द्वारा उनका टिकट काटे जाने पर मायावती ने उनके टिकट पर मुहर लगा दी हैं. उत्तर प्रदेश के चुनावी राजनीति में मुख्तार को गरीबों का मसीहा कहा जाता है तो वहीं मायावती को दलितो का.

Loading...