देवास/इंदौर: ईद मिलादुन्नबी के अवसर पर देश के सबसे बड़े सूफी और छात्र संगठन मुस्लिम स्टूडेंट् ऑर्गनाइजेशन ऑफ इंडिया (MSO) की देवास यूनिट द्वारा एक दिवसीय कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमे मुख्य वक्ता के तौर पर मुंबई से सय्यद मुहम्मद कादरी साहब और जयपुर से मुफ्ती खालिद अय्यूब मिस्बाही साहब शामिल हुए।

दोपहर को हुए प्रशिक्षण कार्यक्रम में मुफ्ती खालिद अय्यूब मिस्बाही ने छात्रों और जिम्मेदारो की तरबियत फरमाई। इसके साथ ही उन्होने मुस्लिम की हालात से आगाह करवाया। उन्होने सिरिया, यमन, जॉर्डन, फिलिस्तीन में मौजूद मुसलमानों के हालात और ग्राउंड जीरो पर हिंदुस्तान की तरफ से पहुंच कर की गई उनकी मदद का भी ज़िक्र किया।

सय्यद मुहम्मद कादरी ने रात को मौलाना इलियास कादरी साहब की रहनुमाई में हुए प्रोग्राम में पैग़म्बरे इस्लाम और मुस्लमान पर उठने वाली उंगलियों की वज़ह पर रोशनी डाली और असल इस्लामी अखलाक और किरदार को दुनियां के सामने पेश करने की हिदायत दी।

प्रोग्राम का संचालन एम एस ओ कन्वेनर अमान रज़वी ने किया और आये हुए मेहमान का शुक्रिया को कन्वेनर इक़रार अशरफ़ी ने अदा किया कार्यक्रम में तमाम सुन्नी मस्जिदों के इमाम हज़रत की मौजूदगी के साथ अरशद रज़ा, डॉ, एजाज़ अली क़ादरी, जीशान शेख, सोहैल क़ादरी, आवेश शेख, अमन रजवाड़ा और एम एस ओ के सभी मेम्बर मौजूद रहे।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano