wire

wire

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मुसीबतें कम नहीं हो रही है. हाल ही में इटारसी के में छात्रों द्वारा भाजपा को वोट न करने की शपथ ली गई थी. जिसके बाद पुरे प्रदेश की राजनीति में हंगामा बरपा हो गया था.

इटारसी से शुरू हुआ ये शपथ का सिलसिला सिवनी, होशंगाबाद, मंडला, मुरैना, सागर, दमोह होते हुए बैतूल पहुँच चूका है. सोमवार को बैतूल जिले में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने भाजपा को वोट न करने की शपथ ली. तो वहीँ दमोह जिले के कॉलेजों में पढ़ाने वाले अतिथि शिक्षकों ने भी भाजपा को वोट न करने की शपथ ली.

दैनिक भास्कर की खबर के अनुसार, बैतूल में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने अपनी 12 सूत्रीय मांगों को लेकर शपथ में कहा…

”हम सच्चे दिल से ईश्वर के नाम की शपथ लेते हैं कि भारतीय जनता पार्टी की केंद्र की मोदी सरकार व प्रदेश की शिवराज सरकार एक जनविरोधी व असंगठित क्षेत्र के मजदूरों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, सहायिकाओं, आशा, ऊषा कार्यकर्ताओं, रसोईया, स्कीम वर्कर्स, मेहनतकश महिलाओं की विरोधी सरकार है, जिसने बहुत लंबे-चौड़े, झूठे वादे कर सत्ता हथियाने का काम किया.

अब वह अपने वादे से पीछे हटकर हम महिलाओं का आर्थिक शोषण कर रही है. इस जनविरोधी सरकार के खिलाफ आगामी विधानसभा व लोकसभा चुनाव में मैं व मेरे परिजन, रिश्तेदार, करीबी, परिचित, दोस्तों के साथ भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ वोट करूंगी व अन्य लोगों से भी इस जन विरोधी भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ वोट करने के लिए कहूंगी, यह सच्चे दिल से ईश्वर के नाम की शपथ लेती हूं.”

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें