open mosque for all masjid e quba nanal nagar 3

ईद के मौके पर हैदराबाद के मेहदीपटनम के नानाल नगर में स्थित मस्जिद-ए-कुबा के दरवाजों को गैर-मुस्लिमों के लिए खोल दिया गया ताकि उनके मन मे इस्लाम के प्रति बनी गलत धारणायेँ दूर हो सके।

ये सभी धर्मों के लोगों के लिए पहली बार मौका था कि वे जान सकें कि मस्जिदें अंदर से कैसी दिखती हैं और कैसे मुस्लिम नमाज अदा करते हैं। मस्जिदों मे होता क्या है। इसके साथ ही आयोजकों ने इस्लाम की बुनियादी सिद्धांतों की भी चार्ट के जरिये जानकारी दी।

कार्यक्रम में बड़ी संख्या में हिंदू, ईसाई और सिखों ने हिस्सा लिया। इस दौरान उन्हे उन्हें नमाज, अजान और वजू के बारे में विस्तार से बताया गया। साथ ही कार्यक्रम के दौरान आने वाले लोगों को पवित्र कुरान की प्रतियां दी गईं।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

open mosque4

सभी को खजूर और शीर खुरमा दिया गया। खुली मस्जिद का विचार मोहम्मद मुस्तफा द्वारा प्रस्तावित किया गया था, जिन्होंने हाल ही में इस्लाम धर्म अपनाया है।  पैगंबर मोहम्मद (सल्ल.) के समय में मस्जिदें निकाह, विदेशी प्रतिनिधियों के साथ बैठकें और यहां तक ​​कि मदरसे के रूप में शिक्षा केंद्र के लिए एकमात्र स्थान था।

विद्वानों ने कहा, ‘उन दिनों में व्यवस्था जहां मस्जिद प्रार्थना के केंद्र थे, शिक्षा और संवाद अमूल्य था। इसे पुनर्जीवित करने की जरूरत है’।

Loading...