​मुरादाबाद में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कड़े विरोध का सामना करना पड़ा. सीएम सर्किट हाउस के अंदर समीक्षा बैठक करते रहे और बाहर पब्लिक योगी मुर्दाबाद के नारे लगाती रही. इस दौरान मुख्यमंत्री काफी देर तक सर्किट हाउस के अंदर फंस रहे.

इस दौरान मुख्य गेट पर भीड़ ने मुख्यमंत्री वापस जाओ, योगी हाय-हाय, जिला प्रशासन हाय-हाय के नारे लगाते हुए सड़क यातायात ठप्प कर दिया. यहाँ तक की लोगों ने सुरक्षा की द्रष्टि से लगाये गए मेटल डिटेक्टर गेट को भी उखाड़ दिया इतना ही नही एक व्यक्ति ने रोकने का प्रयास करने वाले पुलिस कर्मी पर ही जूता तान दिया किसी तरह बमुश्किल भीड़ को गेट से हटाया गया. इसके बाद योगी ने शहर में भ्रमण का कार्यक्रम ही रद्द कर दिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बहुजन समाज समन्वय समिति के संयोजक चंदन सिंह का कहना है कि प्रदेश में जबसे भाजपा की सरकार आई है, तब से दलितों पर अत्याचार बढ़ गए हैं. सहारनपुर, मेरठ, मुरादाबाद इसका उदाहरण है.

उन्होंने कहा, सरकार ने सहारनपुर में दलितों के साथ पक्षपात किया है. ठाकुर की मौत पर 15 लाख रुपये मुआवजा दिया जबकि दलितों को चवन्नी तक नहीं दी गई.