taukira

देवबंद –मुस्लिम युवकों की गिरफ़्तारी को लेकर अब तक चुप रहे धर्मगुरु भी कूद पड़े है इस कड़ी में शाही ईमाम के बाद जिस धर्मगुरु का बयान आया है वो है इत्तेहाद मिल्लत कौंसिल के राष्ट्रीय अध्यक्ष और बरेलवी मरकज धर्म गुरु मौलाना तौकीर रजा, जिन्होंने देवबंद दौरे पर मुस्लिम युवकों की गिरफ़्तारी को लेकर रोष जताया.

दिल्ली से देवबंद पहुंचे मौलाना तौकीर रज़ा खान ने दो टूक शब्दों में कहा की आतंकी बताकर मुस्लिमों को साजिशन बदनाम किया जा रहा है। इसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। देशहित और आतंक के खिलाफ बरेलवी और देवबंदी एकजुट होकर लड़ाई लड़ेंगे।

हिन्दुस्तान समाचार पत्र को दिए गये अपने इंटरव्यू में मौलाना तौकीर ने कहा की सरकार जानबुझकर मुस्लिमों को बदनाम करने पर तुली है इसके पीछे कोई गहरी साजिश है। क्योंकि जिन मुस्लिम युवाओं को आतंकी बताकर गिरफ्तार किया जाता है वह दस से 15 सालों के बाद कोर्ट से बाइज्जत बरी होकर आते हैं। इन सालों में जो तकलीफ युवा और उनके परिवार आतंकी होने का कलंक लेकर झेलते है, उसका हिसाब कौन देगा। यह मनमाना तरीका ठीक नहीं है।

बरेलवी और देवबंदी मुद्दे को लेकर उन्होंने कहा की हम दोनों के धार्मिक मसले अलग हो सकते है लेकिन अब समय आ गया है जब दोनों फिरेकों को एकजुटता दिखानी होगी, जो आतंकी गतिविधियों में लिप्त होगा वह देश का दुश्मन बाद में, सबसे पहले हमारा और कौम का गद्दार है, क्योंकि कौम उनकी वजह से बदनाम होती है।

उन्होंने कहा कि वह देवबंद में आंतकी गतिविधियों में लिप्त बताकर गिरफ्तार किए शाकिर के परिजनों से मिलेंगे। जानकारी करेंगे ताकि बेगुनाह मिलेगा तो उसे न्याय दिलाने के लिए लड़ाई लड़ेगे। फिर सरकार को भी चाहिए कि उसके खिलाफ झूठे मामले में कार्रवाई न हो। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि वह देवबंद सिर्फ इसलिए नहीं जा रहे हैं कि देवबंदी और बरेलवी उलेमा को एक मंच पर लाए।

 Now Deobandi and Barelvi should Unite says Taukeer Raza

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें








Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें