posta

posta

मध्य प्रदेश के मालवा और राजस्थान के मेवाड़ में अफीम उत्पादक किसानों को बड़ा झटका देते हुए मोदी सरकार ने चीन से पोस्ता का आयात करना शुरू कर दिया है. जिसकी वजह से किसानों को बड़ा नुकसान हो रहा है.

मोदी सरकार के इस फैसले के बाद नीमच में देश की सबसे बड़ी मंडी में पोस्ते के भाव 6 से 8 हजार रुपए गिर गए हैं. इस फैसले के चलते पोस्त के भाव इस महीने निचले स्तर पर पहुंच गए है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

किसान कंवरलाल का कहना है कि जनवरी में भाव 58 से 60 हजार रुपए क्विंटल थे. अब बाजार में प्रति क्विंटल दाम 35 से 40 हजार के बीच आ गए है. ध्यान रहे मोदी सरकार सिर्फ चीन से ही नहीं अन्य देशों से भी पोस्ता का आयात कर रही है.

मोदी सरकार के फैसले पर सवाल उठाते हुए राधेश्याम धनगर का कहना है कि भाजपा यूं तो चीनी सामान के विरोध का शोर मचाती है. वहीं, मोदी सरकार के ऐसे फैसले से चीन को ही फायदा पहुंचाया जा रहा है.

किसानों पर केवल मोदी सरकार की ही मार नहीं पड़ी. जैसे ही मोदी सरकार ने आयात की अनुमति दी तो शिवराज सरकार ने डोडा चूरा विक्रय के नियम के साथ पोस्ता भूसा नियम भी विलोपित कर दिया. ऐसे में अब पोस्ता खरीदने पर व्यापारियों को डर है कि उन पर एनडीपीएस एक्ट के तहत कार्रवाई ना हो जाए.

Loading...