झारखंड के गिरिहाड में कंटेनर में प्रतिबंधित मांस लदा होने की कथित अफवाह पर एक बार फिर भीड़ ह’त्यारी बन गई। उग्र लोगों ने कंटेनर के खलासी को अब्दुल कादिर को जमकर पीटा।

इस दौरान भीड़ ने उसे बचाने का प्रयास कर रही पुलिस पर भी हम’ला कर दिया। जिसमे पथराव में बगोदर थानेदार समेत पांच पुलिसकर्मी घा’यल हो गये। पुलिस ने आठ राउंड फाय’रिंग और लाठीचार्ज कर उपद्र’वियों को खदेड़ा।

जानकारी के अनुसार, घटना बगोदर थाना क्षेत्र के जीटी रोड बेको के मुर्गियांटोगरी के पास घटी। सूचना के मुताबिक रविवार को दिन करीब 3.40 बजे धनबाद की ओर से एक कंटेनर आ रहा था। जिसमे प्रतिबंधित मांस लदा होने की अफवाह पर चार-पांच बाइक पर सवार होकर कुछ युवक कंटेनर के पीछे हो लिये।

चालक ने देखा कि पीछा किया जा रहा है, तो वह कंटेनर को खड़ा कर भाग निकला। लेकिन खलासी मो कादिर (यूपी के मुरादाबाद निवासी) को पकड़ लिया और पीटने लगे। इस दौरान कंटेनर का शीशा तोड़ कर जीटी रोड को जाम कर दिया। सरिया-बगोदर एसडीपीओ बिनोद कुमार महतो ने कहा कि कंटेनर में मिले कागजात में मवेशियों के हड्डी होने का जिक्र है।

उन्होने बताया, अभी कंटेनर को खोला नहीं गया है। खलासी और घायल पुलिसकर्मियों का स्थानीय स्तर पर इलाज कराया गया है। मामले में जो भी दोषी होंगे, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस मामले पर कंटेनर के उप चालक के आवेदन पर पुलिस ने मामला दर्ज किया है।

पुलिस ने पाँच लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार लोगों ने पूछताछ में अपने को हेंसला निवासी जितेन्द्र कुमार महतो, दामा निवासी जितेन्द्र महतो, देवराडीह निवासी गणेश महतो तथा बेको निवासी जितेन्द्र साव बताया। इसके अलावा भागने वालों में खेतको निवासी मनोज साव, बेको निवासी उमाशंकर साव, हेसला निवासी संजय यादव व छेदी यादव, पथलडीहा निवासी रंजीत कुमार सोनी, संतोष कुमार सोनी, दामा निवासी अनिल कुमार महतो आदि शामिल हैं।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन