बदायूं के बिलारी से सपा विधायक रहे हाजी इरफान की मौत के मामले में सियासत भी शुरू हो गई है। जिला अस्पताल की लापरवाही सामने आने पर कैबिनेट मंत्री मोहम्मद आजम खां के करीबी और दर्जा राज्यमंत्री आबिद रजा ने बेतुका बयान दिया है।

सीएमएस पर गंभीर आरोप लगाते हुए यहां तक कह दिया, विधायक की टोपी और दाढ़ी देखकर उन्हें मार दिया गया। वे यहीं नहीं रुके। सीएमएस पर आरएसएस मानसिकता का अधिकारी होने का आरोप भी लगाया।

आज दोपहर के वक्त जिला अस्पताल का मुआयना करने के बाद आबिद रजा ने कहा कि विधायक जिस वक्त अस्पताल पहुंचे तो ठीक थे। आरोप लगाया, सीएमएस ने दाढ़ी और टोपी देखकर गलत इलाज करना शुरू कर दिया, ताकि उनकी मौत हो जाए। हुआ भी यही।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसका जिम्मेदार खुद सीएमएस हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि सीएमएस अस्पताल के किसी भी कर्मचारी को न नमाज पढऩे देते हैं और न ही किसी को पूजा करने देते हैं। इसके अलावा दर्जा राज्यमंत्री ने सीएमएस समेत अन्य स्टाफ पर भी जमकर निशाना साधा। कहा, इस मामले में वह सख्त कार्रवाई कराएंगे। आबिद के आरोपों में कितनी सच्चाई है, यह तो जांच के बाद ही पता चलेगी।

सियासी हलकों में यह जरूर कहा जाने लगा है कि आजम खां भी लगातार अपने तीखे बयानों के कारण सुर्खियों में बने रहते हैं। आबिद भी उनके रास्ते पर चलने की कोशिश कर रहे हैं