लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महिलाओं व बालिकाओं की सुरक्षा व सम्मान को लेकर सख्ती अपनाते हुए ‘मिशन शक्ति’ अभियान की रोजाना समीक्षा किए जाने का निर्देश दिया है। बता दें कि ये अभियान शारदीय नवरात्र से बासंतिक नवरात्र तक चलाया जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महिलाओं व बालिकाओं से जुड़े मामलों की जिला स्तर पर प्रतिदिन समीक्षा किए जाने के अलावा वरिष्ठ अधिकारियों के स्तर पर साप्ताहिक, पाक्षिक व मासिक समीक्षा की जाए। उन्होंने सभी थानों में महिला हेल्प डेस्क की स्थापना तथा एंटी रोमियो स्क्वॉड की सक्रियता को और बढ़ाने के भी कड़े निर्देश दिए।

उन्होने कहा, इस दौरान प्रत्येक माह कार्यक्रम आयोजित किए जाएं, जिससे जनमानस जागरूक हो सके।  सम्पूर्ण अभियान ‘मिशन शक्ति’ के रूप में संचालित किया जाएगा तथा अभियान के दौरान पुलिस विभाग द्वारा ‘आॅपरेशन शक्ति’ के अन्तर्गत प्रवर्तन कार्यवाही की जाएगी।

सीएम योगी ने कहा कि महिला व बाल अपराध की मानीटरिंग के लिए हर जिले में मॉनीटरिंग कमेटी की नियमित बैठकें की जाएं। पाक्सो व महिला अपराध संबंधी वादों के निस्तारण के लिए तेजी से कदम बढाए जाएं। इसमें शिथिलता व लापरवाही की दशा में अभियोजन अधिकारी की जवाबदेही भी तय की जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अभियान के तहत महिला सुरक्षा व सम्मान के बारे में सोशल मीडिया व अन्य माध्यमों के जरिए व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जाए। कहा कि प्राथमिक, माध्यमिक, उच्च तथा प्राविधिक शिक्षा सहित सभी शिक्षण संस्थानों में भी व्यापक स्तर पर छात्र-छात्राओं को महिला सुरक्षा व सम्मान के प्रति जागरूक किया जाए। मिशन शक्ति से जुड़े आनलाइन कार्यक्रम भी किए जाएं।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano