अलीगढ़ म’र्डर केस: हिंदूवादियों ने मचाया बवाल, अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों का पलायन शुरू

7:14 pm Published by:-Hindi News

ढाई वर्ष की बालिका की नृशंस हत्या के बाद से अलीगढ़ के टप्पल इलाके में माहौल तनावपूर्ण है। आरोपितों की कल गिरफ्तारी होने के बाद भी  हिंदूवादियों का बवाल जारी है। जिसके चलते अब अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों का पलायन शुरू हो चुका है।

अनहोनी की आशंका के बीच रविवार को प्रशासन ने इलाके में भारी पुलिस बल को तैनात किया है। कस्बे में रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ), पीएसी कई थानों की पुलिस फोर्स तैनात है। सूत्रों ने बताया है कि एक समुदाय विशेष के लोगों के मन में डर व्याप्त हो गया है और वे इलाके को छोड़कर जा रहे हैं।

माहौल ठीक नहीं होने के कारण इलाके के बाजार भी बंद हैं। ऐसी अवस्था होने के बावजूद भी पुलिस व प्रशासन के आलाधिकारी इस मामले पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं। पुलिस ने मुख्य आरोपी ज़ाहिद और उसकी पत्नी शाहिस्ता समेत 4 लोग गिरफ्तार किया है।

एसएसपी आकाश कुलहरि ने बताया कि जाहिद की पत्नी शाहिस्ता के दुपट्टे में बच्ची का शव लिपटा हुआ था। साथ ही एसएसपी आकाश कुलहरि ने कहा कि हम पीड़ित परिवार से मिले और उन्होंने आरोपियों को फांसी की सजा देने की मांग की है। इस मामले में चार्जशीट दाखिल किया गया है। इससे पहले अलीगढ़ के एसएसपी आकाश कुलहरि ने इंस्पेक्टर केपी सिंह चहल सहित पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था।

एसएसपी आकाश कुलहरि ने चेताया कि अगर कोई अफवाह फैलाने के लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल करता है या शांति भंग करने का प्रयास करता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। डीएम-एसएसपी खुद नजर रखे हुए हैं। प्रशासनिक अधिकारियों ने बड़ी संख्या में उन लोगों के मोबाइल नंबर एकत्रित किए हैं, जो सोशल मीडिया पर चल रहे टप्पल चलो के मैसेज फॉरवर्ड कर रहे हैं।

वहीं आज बुलाई गई महापंचायत को रद कर दिया गया है। पुलिस ने पीडि़त परिवार और आरोपी के घर से 200 मीटर पहले ही बेरीकेडिंग कर दी है। इसके साथ ही धारा 144 के उल्लंघन पर छह लोगों को हिरासत में लिया है। विश्व हिंदू परिषद की नेता साध्वी प्राची को भी अलीगढ़ की सीमा के बाहर ही रोका गया है।

विश्व हिंदू परिषद की नेता साध्वी प्राची अलीगढ़ के टप्पल में पीड़ित परिजनों से मुलाकात करने आ रही थीं। तनाव को देखते हुए जिला प्रशासन ने उन्हें जेवर में रोक लिया।

Loading...