जमाते इस्लामी की ओर से महाराष्ट्र में इस्लामिक बैंकिंग का नेटवर्क फैलाया जा रहा हैं जिसके तहत महल जिले के पोसद में राहत क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी के नाम से इस्लामिक बैंक की स्थापना की गई हैं.

राहत क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी राज्य का सातवाँ इस्लामिक बैंक हैं. जो इस्लामिक शरीअत के तहत बिना ब्याज पर लेनदेन करेगा. जमाते इस्लामी महाराष्ट्र ने शुरू में विभिन्न बड़े शहरों में गैर ब्याज वाले संस्थान स्थापित किए हैं. वहाँ सफलता मिलने के बाद अब छोटे शहरों में भी इस तरह की शुरुआत की जा रही हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इसकी शुरुआत 300 शेयर धारकों और उनके द्वारा प्राप्त 15 लाख की राशि से शुरू की गई है. ये बैंक जरुरतमंदो को बिना ब्याज पर लोन प्रदान करेगा. जिससे छोटे व्यवसायीयों को काफी फायदा होगा.

इस बैंक के तहत वे सभी सुविधाएँ प्रदान की जायेगी जो आमतौर पर छोटे बैंकों द्वारा प्रदान की जाती हैं. र्टी के प्रदेश अमीर मौलाना तौफीक असलम के हाथों इस संस्था का उद्घाटन किया गया.

Loading...