जम्मू-कश्मीर की महबूबा सरकार ने एक एतिहासिक फैसला लेते हुए शादी और सगाई में बुलाए जाने वाले मेहमानों की सीमा को निर्धारित कर दिया है. इसी के साथ निजी और सरकारी कार्यक्रमों में पटाखे और लाउडस्पीकर को भी प्रतिबंधित कर दिया गया हैं.

फिजूल खर्ची रोकने के उद्देश्य से लिए गए इस फैसले के अनुसार, अब लड़की की शादी के लिए 500 मेहमानों को ही आमंत्रित किया जा सकेगा जबकि लड़के की शादी के लिए 400 लोगों को ही बुलाया जा सकेगा. इसके अलावा सगाई और मंगनी समारोहों के लिए केवल 100 मेहमानों को ही बुलाया जा सकेगा.

सरकार ने सरकारी या निजी किसी भी समारोह के दौरान लाउडस्पीकर और आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगा दिया है. इतना ही नहीं, निमंत्रण कार्डों के साथ मिठाई या ड्राईफ्रूट देने पर भी सरकार की तरफ से रोक लगा दी गई है. यह नियम 1 अप्रैल 2017 से राज्य में लागू हो जाएगा.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

खाद्य, जन-वितरण और उपभोक्ता मामलों के मंत्री चौधरी जुल्फिकार अली ने इस आदेश की जानकारी देते हुए कहा कि सभी जिलों के डिप्टी कमिश्नर को आदेश को लागू करवाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है. जुल्फिकार ने कहा है कि विधानसभा के अगले सत्र में सरकार इस बारे में बिल लाकर कानून बनाएगी. इस आदेश का उल्लंघन करने वालों पर सरकार कानूनी कार्रवाई करेगी.

Loading...