Tuesday, August 3, 2021

 

 

 

CAA के खिलाफ मेघालय में हिंसा, दो की मौत, मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद

- Advertisement -
- Advertisement -

शिलॉन्ग: मेघालय के पूर्वी खासी हिल्स जिले में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और इनर लाइन परमिट (आईएलपी) पर एक बैठक के बाद हिंसा भड़क उठी। जिसमे दो लोगो की जान चली गई। पुलिस अधीक्षक क्लाउडिया लिंगवा ने ‘पीटीआई’ को बताया कि नगर के मध्य में चाकू से हुए हमले में सात लोग घायल हो गए और उनमें से दो लोगों की मौत हो गई।

अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि सीएए विरोधी और आईएलपी के समर्थन में हुई बैठक के दौरान खासी स्टूडेंट्स यूनियन के सदस्यों और गैर आदिवासियों के बीच झड़प हो गई। यह बैठक शुक्रवार को जिले के इचामति इलाके में हुई थी। अधिकारियों ने बताया कि राज्य के छह जिलों पूर्वी जयंतिया हिल्स, पश्चिम जयंतिया हिल्स, पूर्वी खासी हिल्स, री भोई, पश्चिमी खासी हिल्स और दक्षिण पश्चिम खासी हिल्स में शुक्रवार रात से 48 घंटों के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाएं निलंबित कर दी गई।

सहायक पुलिस महानिरीक्षक (IGP), मेघालय, जीके ईंगरई (Ïangrai) ने एक विज्ञप्ति जारी कर कहा कि सभी घायलों को सिविल अस्पताल ले जाया गया। असम के बारपेटा जिले के 29 वर्षीय रूपचंद दीवान ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। पुलिस अधीक्षक क्लाउडिया लिंगवा ने पीटीआई को बताया कि हमले में शामिल लोगों की पहचान की जा रही है। लैंग्सिंग में 21 वर्षीय आकाश अली के साथ मारपीट की गई, जबकि सोहरा में एक अज्ञात गैर-आदिवासी को स्थानीय लोगों ने पीटा। दोनों अस्पताल में हैं। लिंगवा ने कहा कि झड़पों में घायल होने वालों की संख्या 16 हो गई है।

मुख्यमंत्री कोनराड के. संगमा ने राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की और शांति की अपील की। मुख्यमंत्री ने कहा, ”मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए गए हैं। हमने प्रभावित इलाकों में पर्याप्त सुरक्षा बल की तैनाती सुनिश्चित की है।” उन्होंने शुक्रवारकी लड़ाई में मारे गए व्यक्ति के परिवार के लिए दो लाख रुपए मुआवजे की घोषणा की। अधिकारियों ने कहा कि अधिकारी वर्तमान स्थिति को देखते हुए शिलांग में रात दस बजे से कर्फ्यू लगाने के बारे में विचार कर रहे हैं।

मेघालय के राज्यपाल तथागत रॉय ने लोगों से शांति बनाए रखने और अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील की है। राज्यपाल ने एक बयान में कहा, ”मैं मेघालय में सभी नागरिकों, आदिवासियों या गैर आदिवासियों से शांत रहने की अपील करता हूं। अफवाहें नहीं फैलाएं और उन पर ध्यान नहीं दें। मुख्यमंत्री ने मुझसे बात की है। उन्होंने मुझे आवश्यक कदम उठाने का आश्वासन दिया है। अब सबसे बड़ी जरूरत कानून व्यवस्था बनाए रखना है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles