action should be against who want to destroy image of amu

उत्तर प्रदेश में बूचड़खाने को बंद किये जाने के बाद अब अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्रों के खाने से मीट को हटा दिया गया हैं. पिछले पांच दिनों से छात्रों के मेस मेन्यू से मीट गायब हैं. छात्रों को केवल शाकाहारी भोजन खाने को दिया जा रहा हैं.

यूनिवर्सिटी प्रशासन ने मीट की उपलब्धता न होने के कारण अपने हाथ ऊँचे कर दिए हैं. वीसी जमीरुद्दीन शाह ने कहा, ‘500 किलो भैंस के मीट का प्रतिदिन इंतजाम अब संभव नहीं हैं.  यूनिवर्सिटी में 19 डाइनिंग हॉल हैं. इस वक्त अलीगढ़ में कोई बूचड़खाना खुला नहीं है इसलिए मीट का इंतजाम नहीं हो सकता.’

इस मुद्दें को लेकर ओवैसी ने ट्वीट कर कहा, ‘अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में 15000 छात्रों को मेस में 26 मार्च से मीट नहीं दिया गया है. इसके बाद भी बीजेपी कह रही है है कि हम किसी को निशाना नहीं बना रहे?’ हॉस्टल मेस में पहले हर दिन खाने में मीट सर्व किया जाता था.

वहीँ युनिवर्सिटी प्रेजिडेंट फैजुल हसन ने कहा, ‘हमें सब्जियां खाने के लिए मजबूर किया जा रहा है. इसे किसी आधार पर स्वीकार नहीं किया जा सकता.’ यूनिवर्सिटी के मीडिया सलाहकार डॉक्टर जसीम मोहम्मद का कहना है, ‘गुरुवार को इस समस्या से निपटने के लिए एक मीटिंग बुलाई गई है. इसमें स्टूडेंट वेलफेयर के डीन भी शामिल होंगें.’

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?