मदरसे के मौलवी को मिली 23 साल की कैद, बच्ची के साथ किया था घिनोना काम

12:36 pm Published by:-Hindi News

उत्तर प्रदेश के नोएडा शहर में आठ वर्षीय बच्ची के साथ मदरसे में दरिंदगी के मामले में स्थानीय अदालत ने मौलवी को 23 साल की सजा सुनाई है। साथ ही दोषी पर 2.10 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है।

जानकारी के अनुसार, मौलवी बिहार के किशनगंज का रहने वाला है। 2018 में नोएडा सेक्टर-49 में स्थित पुलिस थाने में पीड़िता के परिजनों ने मौलवी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई।

शिकायत के अनुसार, बीती साल 13 जनवरी को सेक्टर-49 कोतवाली के बरौला स्थित मदरसे में एक बच्ची पढ़ने गई थी। वहां मौलवी ने बच्ची से दुष्कर्म किया। बाद में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

जांच के दौरान पीड़िता ने आरोपी मौलवी को न केवल पहचाना बल्कि मेडिकल जांच में ही मौलवी की करतूत का पर्दाफ़ाश हो गया। जिसके बाद न्यायधीश एंव विशेष न्यायधीश (यौन अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012) विनोद सिंह रावत की कोर्ट ने मौलवी को दुष्कर्म और पोक्सो एक्ट और अन्य धाराओं के तहत दोषी माना।

मौलवी की उम्र (24) और हालात को देखते हुए कोर्ट ने उसे रे’प और पोक्सो एक्ट के आरोप में दस-दस साल की सजा सुनाई और 2.10 लाख रुपए जुर्माना भरने का भी आदेश दिया। मौलवी को बच्ची से छेड़छाड़ के आरोप में भी तीन साल की सजा और एक हजार रुपए जुर्माना लगाया गया। सभी सजाएं एक साथ चलेंगी।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें