दारूल उलूम देवबंद में हदीस के उस्ताद एवं जमीयत उलमाएं हिंद के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी के भतीजे एवं जमीयत उलमाएं हिंद के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना महमूद मदनी के छोटे भाई मसूद मदनी को एक विवाहित महिला के साथ बलात्कार के आरोप में जमानत नहीं मिली है.

एसएसपी लव कुमार ने बताया कि इस मामले की जांच जारी है. पुलिस अभी तक पिरान कलियर दरगाह के उस मौलवी को नही खोज पाई है जो वहां से मसूद मदनी के पास भटकी महिलाओं को भेजता था. डीआईजी सहारनपुर रेंज जितेंद्र कुमार शाही के अनुसार, हरियाणा के जींद जिले की 25 वर्षीय महिला की और से देवबंद कोतवाली में दर्ज कराई गई बलात्कार किए जाने की शिकायत पर 17 मार्च को मदनी को गिरफ्तार किया गया था.

पुलिस ने बताया कि हरियाणा निवासी पीड़ित महिला हिंदू जाट बिरादरी की है और निःसंतान है. कुछ दिन पूर्व वह रूड़की के पिरान कलियर दरगाह पर संतान होने की मंनत मांगने गई थी. वहां से उसे देवबंद मसूद मदनी के पास भेज दिया गया. तब उसके साथ उसका पति भी था. पुलिस के मुताबिक मसूद मदनी ने उससे अकेले में बात की और कहा कि वह अकेले में आकर मिले तो उसे संतान प्राप्ति के लिए टोना-टोटका किया जाना संभव होगा.

पीडित महिला द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत में कहा गया कि वह 16 मार्च की शाम को मसूद मदनी के आवास पर गई. जहा उसने पूरी रात उसके साथ मनमानी की और बलात्कार किया. सुबह होने पर 17 मार्च को वह देवबंद कोतवाली पहुंची और उसने पुलिस अधिकारियों से शिकायत की.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?